Jharkhand News
कोरोना के आगे हारती मानवता! एंबुलेंस नहीं मिलने के वज़ह से ठेले से शव को पहुंचाया श्मशान घाट

जामताड़ा, Jharkhand News: कोरोना के वज़ह से मरने वाले कई लोगों को अंतिम संस्कार के लिए अपनों का कंधा तक नहीं नशीब हो रहा है। सभी रिश्तेदार मौत की सूचना मिलने पर आगे आने से डर रहे हैं। इसी तरह का एक ताजा मामला झारखंड (Jharkhand News)के जामताड़ा के करमाटार प्रखंड अंतर्गत शीतलपुर गांव से सामने आया है। 

इस गांव के रहने वाले पंडित की गुरुवार को के वज़ह मौत हो गई। वे कर्माटांड़ स्थित डाकघर में कार्यरत थे।15 दिन पहले उनकी पत्नी की मौत हो चुकी है। वहीं बेटा उदलबनी में कोरोना पॉजिटिव होने के कारण भर्ती है। इसी सभी चिंताओं के कारण उनकी मौत हो गई। मुअत होने के बाद उनकी अंतिम संस्कार के लिए कोई आगे नहीं आया।

ग्रामीणों को शव श्मशान घाट ले जाने के लिए एंबुलेंस भी नहीं मिली तो वे लाश को ठेले पर रखकर ले गए। उन्होंने खुद ही लकड़ी की व्यवस्था की और शव का अंतिम संस्कार किया। वहीं मामले को लेकर जामताड़ा भाजपा जिला अध्यक्ष सोमनाथ सिंह ने कहा, ‘इससे प्रतीत होता है कि जामताड़ा जिले में रहने वाले जिले के पदाधिकारियों के अंदर मानवता और संवेदनशीलता नहीं बची है।’

यहाँ भी पढ़ें-

By admin

30 thoughts on “Jharkhand News: कोरोना के आगे हारती मानवता! एंबुलेंस नहीं मिलने के वज़ह से ठेले से शव को पहुंचाया श्मशान घाट”

Leave a Reply

आप छोड़ सकते हैं