Unique Health Card

Unique Health Card: डिजिटल हेल्थ मिशन (Digital Health Mission) के तहत सरकार हर व्यक्ति का Unique Health Card बनाने तैयारी कर रही है| यह कार्ड पूरी तरह से डिजिटल होगा जो देखने में आधार कार्ड की तरह दिखाई देगा| इस कार्ड पर आपको एक नंबर मिलेगा, जैसा नंबर आधार में होता है|

इसी नंबर से स्वास्थ्य ( Unique Health Card) के क्षेत्र में व्यक्ति की पहचान होगी|

इस यूनिक नंबर के जरिये डॉक्टर उस व्यक्ति की पूरी रिकॉर्ड जानेंगे| इसी Unique Health Card के जरिये पता चल जाएगा कि फलां व्यक्ति कहां-कहां इलाज करा चुका है| उस व्यक्ति की सेहत से जुड़ी हर एक जानकारी इस Unique Health Card में दर्ज होगी| इस कार्ड का फायदा यह होगा कि मरीज को अपने साथ भारी-भरकम फाइलें लेकन नहीं चलना होगा|

डॉक्टर या अस्पताल रोगी का यूनिक हेल्थ आईडी देखकर उसका पूरा डेटा निकालेंगे और सभी बातें जान सकेंगे| उसी आधार पर आगे का इलाज शुरू हो सकेगा| यह Uniqe Health Card ये भी बताएगा कि उस व्यक्ति को किन-किन सरकारी योजनाओं का लाभ मिलता है| रोगी को आयुष्मान भारत के तहत इलाज की सुविधाओं का लाभ मिलता है या नहीं, इस यूनिक कार्ड के जरिये पता चल सकेगा|

Unique Health Card

क्या है National Health Mission?

दरअसल ‘Digital India’ स्कीम के तहत भारत सरकार ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन (National Digital Health Mission) की शुरुआत की है| इसका अभियान का उद्देश्य स्वास्थ्य क्षेत्र में लोगों को जागरूक कर हेल्थ मिशन से जोड़ना है| इसके साथ ही देश के हर व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराना है| सरकार इसके लिए टेक्नोलॉजी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहती है| Unique Health Card की सुविधा पूरी तरह से ऑनलाइन होगी जिसके चलते इसे डिजिटल हेल्थ मिशन  का नाम दिया गया है|

क्या होगा Unique Health Card में?

Unique Health Card के तहत सरकार हर व्यक्ति का स्वास्थ्य से जुड़ा डेटाबेस (Database) तैयार करेगी| इस ID के साथ उस व्यक्ति के मेडिकल रिकॉर्ड एक-एक बात दर्ज रखी जाएगा| इस ID की मदद से किसी व्यक्ति का पूरा मेडिकल रिकॉर्ड देखा जा सकेगा| किसी डॉक्टर के पास वह व्यक्ति जाएगा तो अपनी Health ID दिखाएगा| उससे पता चल जाएगा कि इससे पहले क्या इलाज चला, किन डॉक्टरों से परामर्श लिया और कौन-कौन सी दवाएं पहले चलाई गई हैं| इस सुविधा के जरिये सरकार लोगों को इलाज आदि में लक्षित मदद भी कर सकेगी| सरकार को Database से जानकारी रहेगी कि कोई व्यक्ति किस श्रेणी में आता है और उसकी आर्थिक स्थिति क्या है| उसी आधार पर सरकार सब्सिडी आदि का लाभ दे सकेगी|

Unique Health Card में क्या बातें दर्ज होंगी?

सबसे पहले तो जिस व्यक्ति की Unique Health Card बनेगी उससे मोबाइल नंबर और आधार नंबर लिया जाएगा| इन दो रिकॉर्ड की मदद से यूनिक हेल्थ कार्ड बनाया जाएगा| इसके लिए सरकार एक हेल्थ अथॉरिटी बनाएगी जो व्यक्ति का एक-एक डेटा जुटाएगी| जिस व्यक्ति की Health ID बननी है, उसके हेल्थ रिकॉर्ड जुटाने के लिए हेल्थ अथॉरिटी की तरफ से इजाजत दी जाएगी|

इसी आधार पर आगे का काम बढ़ाया जाएगा| पब्लिक हॉस्पिटल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर या वैसा हेल्थकेयर प्रोवाइडर जो नेशनल हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर रजिस्ट्री से जुड़ा हो, किसी व्यक्ति की Health ID बना सकता है| आप अपना रिकॉर्ड अधिकारिक वेबसाइट https://healthid.ndhm.gov.in/register पर रजिस्टर करा कर भी आप अपनी Health ID बना सकते हैं|

यहाँ भी पढ़ें-

By admin

2 thoughts on “Unique Health Card: अब आधार कार्ड जैसा ही मिलेगा आपका यूनिक हेल्थ कार्ड, रिकॉर्ड होगा इलाज़ का पुरा ब्यौरा, जानिए सभी डिटेल्स”
  1. […] Unique Health Card: अब आधार कार्ड जैसा ही मिलेगा आपका यूनिक हेल्थ कार्ड, रिकॉर्ड होगा इलाज़ का पुरा ब्यौरा, जान… […]

Leave a Reply

आप छोड़ सकते हैं